सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

joe biden biography in hindi | जो बिडेन बायोग्राफी | जो बिडेन कौन है

जो बिडेन का जीवन परिचय (Joe Biden Biography, Birth, Age, Net Worth, Wife, Politician, Son in Hindi)


जो बिडेन



पूरा नाम:- जोसेफ रॉबिनेट बिडेन

जन्म :- 20 नवम्बर 1942 स्क्रैन्टन, पेन्सिलवेनिया

पत्नी :- नीलिया हंटर, जिल जैकब्स

बच्चे :- हंटर बिडेन, बीयू बिडेन, नओमि बिडेन, एश्ले बिडेन

राजनीतिक पार्टी :- डोमेक्रेटिक  पार्टी

पद :- संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति (2008-2017),  राष्ट्रपति  (2020)

संपत्ति :- 27 मिलियन डॉलर 

जो बिडेन का प्रारंभिक जीवन:-  


जोसेफ रॉबिनेट बिडेन  का जन्म 20 नवंबर 1942 को पेंसिल्वेनिया में हुआ था। 10 साल की उम्र में वह अपने परिवार के साथ विलमिंगटन, डेलावेयर चले गए। जहाँ उनके पिता ने एक कार सेल्समैन के रूप में काम करते थे। उनके दो बच्चे थे, एक लड़का और लड़की, जिनमे जो बिडेन बड़े थे। जो बिडेन ने शुरुआती शिक्षा  कुलीन हाई स्कूल से प्राप्त की थी। वह स्कूल मे औसत दर्जे के विद्यार्थी थे, लेकिन स्कूल मे वह स्पोर्ट मे बहुत अच्छे थे। 1965 में उन्होंने डेलावेयर विश्वविद्यालय से इतिहास और राजनीति विज्ञान में  स्नातक की डिग्री हासिल की। और तीन साल बाद उन्होंने सिरैक्यूज़ विश्वविद्यालय से लॉ की डिग्री हासिल की। 1966 मे जो बिडेन की सादी नीलिया हंटर से हुई, जिनके साथ उनके तीन बच्चे हुए। जिनके नाम  हंटर बिडेन, बीयू बिडेन, नओमि बिडेन। 

1972 मे 29 साल की उम्र में, जो बिडेन संयुक्त राज्य अमेरिका के सबसे कम उम्र के सीनेट बने थे। लेकिन यह खुशी जय्दा दिन नहीं रह पाई क्योंकी सीनेट बनने के कुछ दिनों के ही बाद  उनकी पत्नी नेलिया  और बेटी नाओमी की कार दुर्घटना मे मृत्यु होगई थी। और उनके दोनों बेटे गंभीर रूप से घायल होगए थे।   

(Joe biden biography in hindi)

वर्षों बाद, जो बिडेन ने 2015 मे इस घटना के बारे बात करते हुए बताया की 1972 में वह डेलावेयर के सीनेटर पद की लिए चुने गए थे। और वह जब वह पद ग्रहण करने की प्रतीक्षा कर रहे थे। तब उन्हें पुलिस का फोन आया और उन्होंने कहा। आपकी पत्नी और तीन बच्चे क्रिसमस की खरीदारी करने के लिए बाजार जा रहे थे। तब एक ट्रैक्टर-ट्रेलर से उनकी कार का एक्सीडेंट हो गया। जिसमे आपकी पत्नी और बच्ची की मृत्यु होगई है और दोनों लड़के बुरी तरह घायल है। 

 एक्सीडेंट के वक्त जो बिडेन की पत्नी 30 साल की थी और नाओमी सिर्फ एक साल की थी। और  उनके  बेटे हंटर और ब्यू क्रमशः चार और तीन साल के थे। जब उन्हें पता चला वह सपथ ग्रहण छोड़कर अपने बेटों के पास पहुंच गये थे। बेटों की हालत बहुत खराब थी उन्हें हॉस्पिटल मे बहुत दिन लगने वाले थे। तब उन पर  सपथ ग्रहण करने का दबाव बनने लगा लेकिन वह अपने बेटों को छोड़कर जाना नहीं चाहते थे। इसलिए उन्हें हॉस्पिटल मे ही उनके बेटों के बेड के बगल मे ही रह कर सपथ ग्रहण करवाया गया।   

वह 2012 मे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस मे बताते है, नीलिआ और नाओमी के गुजरने के बाद का समय उनके  लिए काफी मुश्किल था, क्योंकि उन्हें अब सीनेटर का भी कार्य करना था और बच्चों को भी सम्हलना था। और बच्चे अपनी माँ और बहन के बारे मे पूछते थे, लेकिन वह कुछ नहीं बता पाते थे उन्हें। 

वह समय उनके लिए इतना मुश्किल हो चूका था की वह  आत्म  हत्या करने के बारे मे सोचने लगे थे। लेकिन वह अपने बच्चों के बारे मे सोच कर रुक जाते थे क्योंकी उनके बाद उनके बच्चों की देखभाल करने के लिये कोई नहीं था। फिर उन्होंने ठान  लिया की अब कभी इस तरह नहीं सोचेंगे। और अपने काम और बच्चों के बीच समन्वय बना कर रखेंगे। फिर 1975 में जो बिडेन की मुलाकात जिल जैकब्स के साथ हुई, जिनसे उन्हें प्यार मिला, जिसकी उन्हें सख्त जरूरत थी।

 उन्होंने सोचना शुरू कर दिया कि परिवार फिर से पूरा हो सकता है। 
फिर उन्होंने 1977 में शादी कर ली और 1981 में एक बेटी का जन्म हुआ, जिसका नाम एश्ले बिडेन है। अमेरिकी सीनेटर के रूप में उनकी भूमिका के अलावा,जो बिडेन विडिंगर यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ की शाखा विलिंगटन, डेलावेयर में एक सहायक प्रोफेसर (1991-2008) भी थे।


जो बिडेन का राजनैतिक जीवन :- 


डेलावेयर से अमेरिकी सीनेटर के रूप में 36 साल बिताने के बाद जो बिडेन अमेरिका के उपराष्ट्रपति बने थे। डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बराक ओबामा ने उन्हें 2008 मे उन्हें अपना उपराष्ट्रपति पद पर चुना।  उन्होंने 2008 मे बराक ओबामा के राष्ट्रपति बनने के बाद दो कार्यकाल के लिए उपराष्ट्रपति  के रूप में काम किया। जो बिडेन ने उपराष्ट्रपति बनने के बाद  बड़े पैमाने पर आर्थिक और विदेश नीति पर ध्यान केंद्रित किया था। उन्होंने उपराष्ट्रपति के तौर पर बेहतरीन काम किया था। इसलिए 2020 में अक्टूबर मे होने वाले चुनाव मे उन्हे डोनाल्ड ट्रम्प के सामने राष्ट्रपति पद का उमीदवार चुना गया है।  

जो बाइडेन ने भारतीय मूल की  कमला हैरिस को अपने उपराष्ट्रपति के लिए क्यों चुना :- 


अमेरिका के राष्ट्रपति पद के उमीदवार जो बाइडेन ने भारतीय मूल की कमला हैरिस को अपने उपराष्ट्रपति पद के लिये चुना है।   बाइडेन ने कमला हैरिस की तारीफ करते हुये कहा वह एक  बहादुर योद्धा और अमेरिका के  बेहतरीन नेताओं में से एक बताया। जो बिडेन अमेरिका मे रह रहे भारतीय मूल के लोगों और अफ्रीकन लोगों को लुभाने के कमला हैरिस को चुना। क्योंकी कमला हैरिस के पिता अफ़्रीकी मूल के अमेरिकी नागरिक थे और माँ भारतीय थी। जिनकी टोटल आबादी अमेरिका मे 22% है, जो किसी की भी हार को जीत मे बदल सकते है। 

जो बिडेन ने भारत के लिए कैसा रुख रखते है:- 


अमेरिका वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत की हर छेत्र मे मदद करते है, चाहे पाकिस्तान का मामला हो या चीन का। जैसे पाकिस्तान के आतंक का मामला हो, धारा 370 हो और चीन के साथ गलवान घाटी विवाद हो हमेशा भारत का साथ दिया। अब जो बिडेन ने भी भारत का साथ देने की घोषणा की। जो बिडेन ने भी सीधे और सपाट लहजे में भारत से दोस्ती की बात की है। बिडेन ने कहते है कि अगर वह जीतते हैं तो उनका प्रशासन भारत के साथ देगा और अमेरिकी संबंध को और मजबूती देगा। 

बिडेन ने पाकिस्तान का नाम लिये बगैर कहा कि भारत जो सरहद पर आतंकी  चुनौतियां झेल रहा है, अमेरिका आतंक खत्म करने के लिए साथ खड़ा रहेगा। भारत अब इतना मजबूत हो चूका चाहे ट्रम्प हो या बिडेन हो वह भारत का साथ देंगे ही। 


दरअसल अमेरिका में  41 लाख भारतीय मूल के लोग रहते है। जिनमे से 15 लाख वोट डाल सकते है। ये 15 लाख वोटर  राष्ट्रपति चुनाव में बड़ा उलट फेर कर सकते है। साथ ही अमेरिका मे रह रहे भारत के लोग सिर्फ वोटर बस नहीं है, वहां बड़े-बड़े बिजनेस मैन और बड़े सीइओ भारतीय है, जो किसी की भी जीत मे अहम् भूमिका निभा सकते है।  कहाँ जाता है वहां यहूदी लॉबी के बाद सबसे मजबूत लॉबी भारत की है जो अमेरिका के चुनाव मे बड़े उलट फेर करने का माद्दा रखती  है। 

Joe biden biography in hindi 

यही वजह है कि ट्रम्प और बिडेन भारतीय मूल के वोटरों  को रिझाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे है। 
 

टिप्पणियां

  1. I really appreciate your article because it's too good to read

    जवाब देंहटाएं
  2. I really appreciate your article because it's too good to read https://celebritywikin.blogspot.com

    जवाब देंहटाएं
  3. Thanks for sharing this wonderful information I really enjoyed to reading it. Keep up the good work. If you have time, please visit my posts on. ptcl speed test.

    जवाब देंहटाएं
  4. Thanks for sharing this wonderful information I really enjoyed to reading it. Keep up the good work. If you have time, please visit my posts on. ptcl speed test.

    जवाब देंहटाएं
  5. Make your online Reputation more strong through Empire Media

    जवाब देंहटाएं
  6. In this blog I get a great post sir please also visit my blog I post great content https://techkashif.com/special-delivery-web-series/

    जवाब देंहटाएं
  7. Great Article IoT Projects for Students

    Deep Learning Projects for Final Year

    JavaScript Training in Chennai

    JavaScript Training in Chennai

    The Angular Training covers a wide range of topics including Components, Angular Directives, Angular Services, Pipes, security fundamentals, Routing, and Angular programmability. The new Angular TRaining will lay the foundation you need to specialise in Single Page Application developer. Angular Training

    जवाब देंहटाएं

टिप्पणी पोस्ट करें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Kamala Harris biography in hindi | कमला हैरिस की जीवनी | कमला हैरिस का जीवन परिचय

Kamala Harris biography in hindi | कमला हैरिस की जीवनी | कमला हैरिस का जीवन परिचय नाम - कमला हैरिस पूरा नाम:- कमला देवी हैरिस  जन्म - 20 अक्टूबर 1964  शिक्षा - हावर्ड विश्वविद्यालय (बीए) कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, लॉ  जन्म स्थान - ऑकलेण्ड, केलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका पति - डूगल्स एम्हॉफ पिता का नाम - डोनाल्ड हैरिस,  जमैका  माता का नाम - श्यामला गोपालन हैरिस, भारत  बहिन - माया हैरिस  नागरिकता - अमेरिकी  मूल - भारतीय  राजनीतिक दल - डेमोक्रेटिक पार्टी कमला हैरिस की चर्चा इस समय  देश विदेशों मे क्यों हो रही है:- कमला हैरिस को अमेरिका के चुनाव में  डमोक्रेटिक पार्टी ने उप राष्ट्रपति का उमीदवार बनाया है। भारतीय मूल की पहली उपराष्ट्रपति उमीदवार है। अमेरिका मे भारतीय मूल की ही नही पुरे एशिया की पहली उपराष्ट्रपति पद की टिकट पाने वालीं पहली महिला है।  कमला हैरिस का प्रारम्भिक जीवन :- कमला देवी हैरिस का जन्म 20 अक्टूबर 1964 मे ऑकलेण्ड, केलिफोर्निया, अमेरिका मे हुआ था। शुरुआती शिक्षा उन्होंने ऑकलेण्ड के एक स्कूल से प्राप्त की ओर उच्च शिक्षा के लिए वह  हावर्ड यूनिवर्सिटी गई। और वहां  से स्

Narendra modi biography in hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

Narendra modi biography in hindi | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का जीवन परिचय | नरेन्द्र मोदी की जीवनी  मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जिनका जन्म 'स्वतंत्र भारत' में हुआ था, यानी 15 अगस्त, 1947 के बाद। वे पहले भारतीय प्रधानमंत्री भी हैं, जिनकी माँ पद संभालने के समय जीवित थीं। उनके पास सर्वाधिक मार्जिन (लगभग 5.70 लाख वोट ) द्वारा लोकसभा सीट जीतने का रिकॉर्ड है। नरेंद्र दामोदरदास मोदी भारत के 14वें प्रधानमंत्री हैं । जिन्होंने 2014 में और फिर 2019 में भारतीय जनता पार्टी की प्रभावशाली जीत का नेतृत्व किया। मोदी के बारे में एक दिलचस्प तथ्य यह है कि वह पहली बार विधायक के रूप में गुजरात के मुख्यमंत्री बने। इसी तरह वह पहली बार सांसद के रूप में सीधे भारत के प्रधानमंत्री बने। 2014 में बीजेपी की बहुमत से जीत के लिये मोदी को श्रेय दिया जाता है और यह साल 1984 के बाद पहली बार हुआ था। पूरा नाम :- नरेन्द्र दामोदर दास मोदी  पिता :- दामोदर दास मोदी  माता :- हिराबेन  पत्नी :- जसोदा बेन  पद :- 4 बार मुख्यमंत्री , 2बार प्रधानमंत्री  रोचक तथ्य :- नरेंद्र मोदी कभी कोई भी चुनाव नहीं हरे।  प्रधान

harshad mehta biography in hindi | हर्षद मेहता का जीवन परिचय | harshad mehta scam 1992

harshad mehta biography in hindi | harshad mehta scam 1992 हर्षद मेहता का पूरा नाम हर्षद शांतिलाल मेहता है, इनका जन्म 29 जुलाई 1954 को राजकोट जिले के पनेली मोती नामक गांव में एक गुजराती जैन परिवार में हुआ था। हर्षद मेहता ने 1976 में लाजपतराय कॉलेज मुंबई से बी.कॉम की पढ़ाई पूरी की। उसके बाद अगले आठ वर्षों तक कई तरह के काम करते रहे। इसी दौरान ही वह शेयर बाजार में दिलचस्पी लेने लगे और एक ब्रोकरेज फर्म में शामिल हो गए। इसी शेयर बाजार ने उन्हें बुलंदियों मे पंहुचा दिया। हर्षद मेहता का करियर :- 1984 में वह सभी काम छोड़कर जो उन्हें पसंद था उसी काम मे लग गये। वह एक ब्रोकर के रूप में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सदस्य बन गये और बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) मे एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर GrowMore Research and Asset Management नामक फर्म की स्थापना की। उन्होंने 1984 ब्रोकर के रूप मे काम करना शुरू किया था लेकिन अभी तक उन्हे वह सफलता नहीं मिल रही थी जो उन्हें 1986 में मिली। 1986 मे कई बड़ी कंपनी ने उनके फर्म में निवेश किया, और उनकी सेवाओं का उपयोग करने लगे। 1990 आते-आते बीएसई उनका नाम बन गया। इस अ

rahul tewatia biography in hindi | rahul tewatia story | राहुल तेवतिया बायोग्राफी

 Rahul tewatia biography in hindi  | rahul tewatia story | राहुल तेवतिया बायोग्राफी   राहुल तेवतिया को आईपीएल मे खेली एक पारी नें आज स्टार बना दिया। हर जगह उनकी बात हो रही है। इस पारी मे उनके द्वारा मारे गये एक ओवर 5 छक्कों के कारण तो हो ही रही है, लेकिन इस पारी मे उन्होंने शुरू की कुछ बोलों मे स्ट्रगल किया जब लगने लगा उनकी टीम हार जाएगी तब उन्होंने बिलकुल अलग अंदाज से खेल कर अपनी टीम को जिताया इसलिए और भी तारीफ की जा रही है उनकी।  राहुल तेवतिया जन्म, परिवार एवं शुरुवाती जीवन (Early life, family, education) –  राहुल तेवतिया का जन्म 1993 मे फरीदाबाद हुआ था, लेकिन इनका शुरुआती जीवन सीही हरियाणा में बिता। राहुल के पिता का नाम कृष्णपाल तेवतिया है, वह एक वकील है। राहुल तेवतिया को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का बहुत शौक था, जैसे भारत के हर आदमी को होता है। लेकिन उन्होंने अपना करीयर भी क्रिकेट को बनाया और आज वह दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आईपीएल मे खेल रहें है।  राहुल तेवतिया का क्रिकेट करियर(Rahul Tewatia's cricket career)– बचपन से ही क्रिकेट के प्रति राहुल की लगन को देखकर राहुल के पिता

Kim jong un biography in hindi | किम जोंग उन की जीवनी

Kim jong un biography in hindi | किम जोंग उन की जीवनी:- किम जोंग उन शुरुआती जीवन एवं शिक्षा (kim Jong Un Early Life and Education):- उत्तर कोरिया के ताना साह  किम जोंग-उन के जन्म को लेकर आज तक रहस्य बना हुआ है। क्योंकी उत्तर कोरिया के शासको के घर कोई बच्चा पैदा होता है तो किसी को नहीं बताया जाता जब तक वह खुद गद्दी सम्हालने लायक नहीं हो जाता। किम जोंग उन पहली बार 2011 मे पिता की मृत्यु के बाद सामने आये थे।  पर उत्तर कोरिया के अधिकारी बताते है की किम जोंग का जन्म 8 जनवरी 1982 हुआ है। लेकिन दक्षिण कोरियाई खुफिया एजंसी का मानना ​​है कि उनका जन्म जो बताया जाता है उसके एक साल बाद 1983 मे हुआ है।     किम जोंग उन के पिता का नाम  किम जोंग-इल था। वह भी उत्तर कोरिया के शासक रह चुके है। किम जोंग उन की माँ का नाम योंग हुई था। वह एक ओपेरा सिंगर थी। किम जोंग उन तीन भाई-बहन है, किम जोंग उन उनमे दूसरे थे। उनके बड़े भाई का नाम किम जोंग-चुल है। जिनका जन्म 1981 में हुआ था। जबकि उनकी छोटी बहन का नाम किम यो जोंग है, इनका जन्म 1987 में हुआ था। किम जोंग उन ने अपनी पूरी पढ़ाई  स्विट्जरलैंड स्कूल की। पहले किसी क