सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

larry page biography in hindi | google success story in hindi | larry page and sergey brin story


larry page biography in hindi :-





जब आप कोई कंपनी खोलें और आपके पास यह आइडिया ना हो कि आप उस बिजनेस से पैसा कैसे कमाएंगे तो कंपनी चलाना काफी मुश्किल हो जाता है मगर लैरी पेज ने ना केवल कंपनी चलाई बल्कि वह कंपनी आज एक मिसाल भी बन गई है। 

दोस्तों हमें आज कुछ भी ढूंढ़ना होता है हम इंटरनेट का प्रयोग करते हैं और इंटरनेट पे उपस्थिति सबसे प्रसिद्ध साइट गूगल पे अपने सवालों का जवाब ढूंढ़ते हैं | यह साइट इतनी बड़ी हो चुकी है की आज इंटरनेट का मतलब गूगल हो चूका है। गूगल ने पुरे दुनिया को एक कर दिया है| 


आज सब काम इंटरनेट नेट से होते है, गूगल इन सभी कामों को आपस जोड़ कर रखता है, और कई लोगों को प्रत्यछ अथवा अप्रत्यछ रूप से कई लोगों को रोजगार देता है। आज कई सर्च इंजन है लेकिन कोई भी गूगल के सामने नहीं टिक पाता। 

गूगल को बनाने वाले इंसान लैरी पेज है, आगे देखेंगे कैसे लैरी पेज ने एक छोटी साइट को इंटरनेट का दूसरा नाम बना दिया। आज गूगल के बिना इंटरनेट की कल्पना नहीं की जा सकती है। 

लैरी पेज का प्रारम्भिक जीवन :-


लैरी पेज का जन्म मिशिगन, संयुक्त राज्य अमेरिका में 26 मार्च 1973 को हुआ था। लैरी पेज के पिता का नाम कार्ल पेज है, और उनकी मां का नाम ग्लोरिया पेज है। लैरी पेज के माता और पिता दोनों कंप्यूटर इंजीनियर थे।   लैरी पेज के पिता 1965 मे मिशिगन विश्वविद्यालय से पास पहले कुछ पीएचडी धारको में से एक थे। लैरी के माता-पिता दोनों मिशिगन यूनिवर्सिटी में अध्यापक थे। 

लैरी पेज ने मिशिगन विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की। इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने के बाद, लैरी पेज ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर विज्ञान मे शोध कर रह थे, वहीं उनकी मुलाक़ात  सेर्गेई ब्रिन (sergey brin) से हुई। इन्ही के साथ मिलकर लैरी पेज ने 1998 मे गूगल साइट को बनाया था।

 2007 में लैरी पेज की शादी  ल्यूसिंडा साउथवर्थ से हुई, वह भी कंप्यूटर इंजीनियर है। लैरी पेज और साउथवर्थ के दो बच्चे है, जिनका जन्म 2009 और 2011 मे हुआ है। 

गूगल का अविष्कार :- 


लैरी पेज का बचपन शुरआत से  कंप्यूटर और विज्ञान से घिरा हुआ था। जैसा हमने बताया उनकी माता और पिता दोनों कंप्यूटर इंजीनियर और शोधकर्ता थे। उन्हें उनके माता पिता से ही प्रेरणा मिलती थी विज्ञान के छेत्र मे कुछ करने की। और फिर जब उनकी मुलाक़ात सेर्गेय ब्रिन से तब दोनों मित्र ने मिलकर गूगल का निर्माण किया। 



लैरी पेज और सेर्गेय ब्रिन ने  स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एक शोध परियोजना के तहत इस साईट का निर्माण किया था।  शुरआत मे इस  साईट का काम सर्च पेज की पॉपुलैरिटी के आधार पर किसी भी वेबसाइट का परफॉर्मेंस रिजल्ट  निकालना था। इस साईट का नाम उन्होंने पहले “गुगोल" रखा था। जिसका अर्थ होता है एक 1अंक के पीछे 100 जीरो। लेकिन कहा जाता है एक गलती से इस साईट का नाम गुगोल से गूगल होगया, तब से इसी नाम का उपयोग किया जा रहा है। 

गूगल के सह-संस्थापक लैरी पेज जब तक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) थे वह हर साल केवल 1$ का वार्षिक वेतन लेते थे। अब वर्तमान मे भारत के सुन्दर पिचाई गूगल के  मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) है। लैरी पेज को सुन्दर पिचाई पर बहुत भरोसा है उन्होंने अपनी एक और मुख्य कंपनी यूट्यूब का सीईओ सुन्दर पिचाई को बना दिया है। और अपने बिजनेस से कुछ समय के लिए दूर होकर अपने परिवार के साथ समय बिता रहे है।

गूगल से जुड़े कुछ तथ्य :-


लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन द्वारा 1998 में Google का निर्माण किया गया था। आज यह एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी है, जो इंटरनेट से सम्बंधित  सेवाएं प्रदान करती है। गूगल का काम ऑनलाइन विज्ञापन, सर्च इंजन, क्लाउड कंप्यूटिंग, सॉफ़्टवेयर और बहुत कुछ शामिल है। 

गूगल को वर्तमान में पूरी दुनिया यूज़ करती है, जिसके कारण इस साईट पर प्रति सेकंड मे 40,000 खोज क्वेरी सर्च की जाती है। 

इसमें प्रति दिन 3.5 अरब से अधिक क्वेरी सर्च की जाती है।और हर महीने लगभग 100 अरब खोज क्वेरी सर्च की जाती है| और एक वर्ष मे 1.2 ट्रिलियन क्वेरी सर्च की जाती है। आज के समय इससे ज्यादा ट्रैफिक किसी भी साईट पर नहीं है। 

2012 में गूगल कंपनी की एक  रिपोर्ट मे बताया गया था,  कि गूगल सर्च इंजन पर प्रति दिन 30 अरब अद्वितीय यूआरएल मिलते हैं, हर दिन 20 अरब साइटों को क्रॉल करता है। 

2015 में अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी अल्फाबेट को गूगल की मूल कंपनी रूप मे बनाया गया था। अल्फाबेट कंपनी द्वारा ही यूट्यूब और कई अन्य कंपनियों का संचालन किया जाता है।  

एक समय ऐसा भी था जब लैरी पेज गूगल को 1 करोड़ डॉलर में बेचने का ऑफर ऑनलाइन कंपनी एक्साइट को दिया था, लेकिन एक्साइट कंपनी के  सीईओ ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। उन्हें क्या पता था एक दिन यह कंपनी इंटरनेट की दुनिया पर  राज करेगी। गूगल कंपनी का मार्केट वैल्यू अब 300 अरब डॉलर से अधिक। 

लैरी पेज को मिले अवार्ड और सम्मान :-



1- 2009 में लैरी पेज को मिशिगन विश्वविद्यालय मे होरहे एक दिशान्त समारोह मे डॉक्टरेट की मानद उपाधि दी गई।

2- 2011 की फोर्ब्स की अरबपतियों की सूची में लैरी पेज दुनिया मे 24 वें स्थान पर थे। और अमेरिका में 11वें स्थान पर थे।  

3- जुलाई 2014 मे ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स रिपोर्ट मे लैरी पेज को दुनिया के 17वॉ सबसे अमीर व्यक्ति माना गया था।तब इनकी अनुमानित कुल संपत्ति  32.7 बिलियन डॉलर थी। 


4- 2014 मे फॉर्च्यून पत्रिका ने लैरी पेज को “बिजनेसपर्सन ऑफ द ईयर” का अवार्ड दिया था। और दुनिया का  सबसे साहसी सीईओ माना था, जो निर्णय लेने मे डरता नहीं है।


5- 2015 में फोर्ब्स पत्रिका मे गूगल को “डिजिटल युग की सबसे प्रभावशाली कंपनी” माना था।


6- अक्टूबर 2015 में फोर्ब्स पत्रिका मे “अमेरिका के सबसे लोकप्रिय मुख्य कार्यकारी अधिकारियों” में पेज को नंबर एक माना गया था।

7- अगस्त 2017 में लैरी पेज को एग्रीजेंटो, इटली की मानद नागरिकता प्रदान की गई थी। 

लैरी पेज से जुड़े कुछ तथ्य :- 


लैरी पेज के निजी विमानो का रनवे नासा मैं जहाँ किसी और व्यक्ति को विमान को उड़ने तक  की इज़ाज़त नहीं है।  

((यहाँ पर हमनें लैरी पेज के जीवन के बारे में और गूगल कंपनी के बारे मे बताया है, यदि आपको उनके बारे मे और कोई जानकारी चाहिए या आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है))






इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

jr ntr biography in hindi | जूनियर एनटीआर जीवनी

rahul sharma(micromax) biography in hindi | राहुल शर्मा जीवन परिचय| micromax story in hindi

Dilip Shanghvi biography in hindi | दिलीप संघवी की जीवनी | Dilip Shanghvi success story in hindi

Sweta Singh Biography in hindi | श्वेता सिंह का जीवन परिचय

Rajkumari amrit kaur biography in hindi | राजकुमारी अमृत कौर की जीवनी | भारत की पहली महिला केंद्रीय मंत्री