सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

yashasvi jaiswal biography in hindi | yashasvi jaiswal story | yashasvi jaiswal career

yashasvi jaiswal biography in hindi | yashasvi jaiswal story | yashasvi jaiswal career 






आज हम एक ऐसा युवा क्रिकेटर की बात कर रहे है जिसने 10 साल की छोटी सी उम्र मे घर छोड़ दिया था, जिसे बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्रिकेट मे करियर बनाने मे, उसने गोलगप्पे बेचे, डेयरी मे काम किया, टैंट और फुटपाथ मे रहा, कई रातें भूके पेट सोना पड़ा, हम बात कर रहे है यशस्वी जायसवाल की। 

यशस्वी जायसवाल का प्रारम्भिक जीवन और परिवार :- 


यशस्वी जायसवाल का जन्म सुरियावां उत्तर प्रदेश मे 28 दिसंबर 2001 मे हुआ था। वह एक बहुत गरीब परिवार से है, उनके पिता का नाम भूपेंद्र जायसवाल है, वह छोटी सी हार्डवेयर की दुकान चलाते है। और माता का नाम कंचन जायसवाल है, वह ग्रहणी है। यशस्वी जायसवाल 6 भाई बहन है। 


यशस्वी जायसवाल का क्रिकेट का सफर के इतना आसान नहीं रहा है, उन्हें अपने जीवन मे कई संघर्ष और त्याग करना पड़ा। यशस्वी 10 साल की छोटी उम्र में उत्तर प्रदेश के भदोही से निकलकर मुंबई गये। 

यशस्वी जायसवाल का सफर और  संघर्ष :- 


वह भूखे रहे तम्बू में रातें गुजारी, जीवन यापन के लिए गोलगप्पे बेचे लेकिन हार नहीं मानी। इनके इस जज्बे को देख कर सब कहते थे एक दिन बहुत बड़ा प्लेयर बनेगा। भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों के बीच अपनी पहचान बनाने के लिए यशस्वी को कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। क्रिकेटर बनकर देश की तरफ से खेलने के सपने ने उनके सामने कई चुनौतियां पेश की लेकिन वे अपने लक्ष्य को लेकर अडिग रहे और अपना काम करते रहे। 

यशस्वी ने क्रिकेट में अपना भविष्य बनाने के लिए 10 साल की उम्र मे अपना घर छोड़कर मुंबई पहुंच गए। उनके पिता ने भी इसपर कोई आपत्ति नहीं उठाई क्योंकि परिवार को पालने के लिए उनके पास पर्याप्त धन नहीं था।

यशस्वी के एक रिश्तेदार का घर मुंबई मे है, लेकिन वह घर इतना बड़ा नहीं कि कोई अन्य व्यक्ति उसमें रह सके। वह घर से भी पैसे नहीं मांगा सकते थे, क्योंकी वह अपने घर की हालात जानते थे। फिर मज़बूरी मे उन्हें एक डेयरी में काम करना पड़ा जहाँ उन्हें रहने की भी जगह मिल गई। 

अब वह यहाँ से क्रिकेट की ट्रेनिंग मे जाने लगे सब ठीक ठाक चल रहा था।  लेकिन यशस्वी छोटे होने के कारण डेयरी का काम अच्छे से  नहीं कर पाते थे, इसके कारण उन्हें डेयरी से निकाल दिया गया।     

फिर उन्होंने अपने कोच से बात की तो उनके कोच ने कुछ समय के लिए अपने घर मे जगह दी। लेकिन वह भी परिवार की मज़बूरी बता कर उन्हें ज्यादा दिन अपने पास नहीं रख पाए। 

फिर उनके कोच ने यूनाइटेड क्लब के मैनेजर संतोष से बात कर यशस्वी के रहने की व्यवस्था यूनाइटेड क्लब के ग्राउंड मे करा दी। यशस्वी को वहां ग्राउंड्समैन के साथ टेंट में रहना पड़ता था, वहा ग्राउंड्समैन जो खाना बनाते थे उन्हीं के यशस्वी भी खा लेते थे।मगर कई दिन ऐसे भी होते थे, जब उन्हें खाली पेट सोना पड़ता था क्योंकि जिन ग्राउंड्समैन के साथ वह रहते थे, वह आपस में लड़ाई करते थे और खाना नहीं बनाते थे।
 

कोई फ्री मे कब तक खिला सकता है इसलिए उन्होंने अपने जीवन यापन के लिए कई जगह काम की तलाश मे गये लेकिन छोटे होने के कारण उन्हें कोई काम नहीं दे रहा था। फिर उन्होंने पेट पालने के लिए आजाद मैदान में रामलीला में गोलगप्पे बेचे, फल बेचे, और सभी दुकान वालों के छोटे छोटे काम कर दिया करते थे, जिससे उन्हें कुछ पैसे मिल जाते थे।लेकिन वह प्रार्थना करते थे कि उनका कोई दोस्त या टीम का कोई साथी उन्हें गोलगप्पे बेचते हुये ना देख ले।

यशस्वी थोड़े थोड़े पैसे कमाने के लिए हमेशा मेहनत करते रहे। वह बड़े लड़कों के साथ भी क्रिकेट खेलने जाते थे, वहां वह बड़े लड़कों के बीच भी अच्छा प्रदर्शन करते थे, उनके प्रदर्शन को देख कर वह लड़के भी कुछ पैसे उन्हें देदिया करते थे। 

यशस्वी को खाना खुद बनाना पड़ता था :-


यशस्वी ने एक इंटरव्यू मे बताया की जब मै ट्रेनिंग करता था,  तब  सब अपने घर से खाना लाते थे, या फिर उनके माता-पिता खाना पंहुचा देते थे। वहीं मेरे साथ मामला उल्टा ही था-मुझे खाना खुद बनाना पड़ता था। यशस्वी का    दिन और रात का खाना टेंट में होता था, जहां यशस्वी की जिम्मेदारी रोटी बनाने की थी। अगर वह कभी खाना नहीं बनाते थे, तो खाना नहीं मिलता था।

परिवार को यादकर रोते थे यशस्वी:- 



आगे बताते उनकी आंखे नम होगई, उन्होंने बताया की दिन मे क्रिकेट खेलने और खाना बनाने मे टाइम कट जाता था, लेकिन उनकी रातें बहुत लंबी हुआ करती थी। क्योंकी रात को ज्यादा कुछ काम नहीं हुआ करता था, रात को समय बिताना मुश्किल होता था। उस वक्त उन्हें अपने परिवार की बहुत ज्यादा याद आती थी तब वह  बहुत रोते थे।

सचिन तेंदुलकर से पहली मुलाक़ात :-  


सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर और यशस्वी दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं। इनकी दोस्ती राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी, बंगलुरु में हुई थी। वहां अर्जुन और यशस्वी एक ही कमरे में रहते थे, तब यशस्वी ने बताया मै सचिन सर का बहुत बड़ा फैन हूं, उन्होंने अर्जुन से बोला एक बार मुझे अपने पिता से मिलवा दो। उसके बाद जब वह दोनों मुंबई वापस आये तब अर्जुन ने यशस्वी की मुलाक़ात अपने पिता से करवाई।  साल 2018 में अर्जुन यशस्वी को अपने घर ले गए और उन्हें सचिन तेंदुलकर से मिलवाया। सचिन तेंदुलकर को अर्जुन ने बताया की यशस्वी ने क्रिकेटर बनने के लिए कितनी मुश्किलों का सामना किया। 

यह सुनकर सचिन यशस्वी से बहुत प्रभावित हुये, की इतना छोटा लड़का अपने सपने को पूरा करने के लिए कितनी मुश्किलों का सामना किया। इस मुलाकात में सचिन ने यशस्वी से प्रभावित होकर उन्हें अपना बैट गिफ्ट में दे दिया। यही नहीं सचिन ने यशस्वी से डेब्यू मैच में उसी बैट  से खेलने की गुजारिश की।



यशस्वी जयसवाल का विजय हजारे ट्रॉफी मे प्रदर्शन :-


यशस्वी ने विजय हजारे ट्रॉफी 2019 में मुंबई की तरफ से खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने एक दोहरा शतक,  तीन शतक लगाये, उन्होंने पांच मैचों में 500 से अधिक रन बनाए। उन्होंने झारखंड के खिलाफ 200 रन की पारी खेली थी उसमे उन्होंने मात्र  149 गेंदों का सामना किया था।  उन्होंने यह कारनामा भारत मे सबसे कम उम्र में किया। इतना ही नहीं उन्होंने इस पारी 12 छक्के जड़ दिये थे, उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी मे एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के मारने का भी रिकॉर्ड बनाया था।  

अंडर-19 वर्ल्ड कप मे यशस्वी जयसवाल का प्रदर्शन :-



भारत के इस शानदार युवा बल्लेबाज ने अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में अपनी बल्लेबाजी से पाकिस्तान को एकतरफा हरा दिया था। दक्षिण अफ्रीका में खेले गए मुकाबले में टीम इंडिया ने अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को दस विकेट से हराते हुए रिकॉर्ड सातवीं बार फाइनल में जगह बनाई थी। 

भारत की इस जीत के हीरो रहे यशस्वी जायसवाल ने  टूर्नामेंट का अपना पहला शतक लगाया था। यशस्वी ने पूरे टूर्नामेंट में खेले गए पांच मुकाबले में तीन अर्धशतक और एक शानदार शतक जड़ा था। उन्होंने पूरे टूर्नामेंट के दौरान 156 की औसत से सर्वाधिक रन बनाए थे, जो एक रिकॉर्ड बन गया। 



आईपीएल में लगी करोड़ों की बोली:-


यशस्वी के अंडर-19 वर्ल्ड कप में किये शानदार प्रदर्शन का फल उन्हें आईपीएल ऑक्सन मे मिला। मुंबई की तरफ से रणजी मैच खेलने वाले उत्तर प्रदेश के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल को उनके बेस प्राइस 2 करोड़ ज्यादा देकर आईपीएल 2020 के लिए खरीद लिया गया है। आईपीएल 2020 की हुई नीलामी में इस युवा बल्लेबाज को राजस्थान रॉयल्स ने अपनी टीम में शामिल किया। उन्हें दो करोड़ 40 लाख में खरीदा गया।

करियर बल्लेबाज़ी के आंकड़े

बाएं हाथ के बल्लेबाज़

फ़ॉर्मेट

Match 

Runs

Avg

SR

आईपीएल(2020)–

1

6

6.0

100.0

प्रथम श्रेणी(2019)-

1

20

20.0

47.6

लिस्ट ए(2019)–

13

779

70.8

91.5

टी 20(2020)–

1

6

6.0

100.0

करियर गेंदबाज़ी के आंकड़े

दाएं हाथ के लेग स्पिन गेंदबाज़

फ़ॉर्मेट

M

W

Econ

Avg


लिस्ट ए (2019)

13

5

4.47

17.6


आईपीएल(2020)–

इन्होने आईपीएल मे अभी एक मैच खेला है, जिसमे इन्हे बॉलिंग करने का मौका नहीं मिला था। 


यशस्वी जयस्वाल की खास बात :- 


आप भी मानेंगे अगर इतनी मुश्किलों का सामना हमें या किसी और करना पड़ता तो हम हार मानकर अपने घर वापस चले जाते। लेकिन यशस्वी को मानना पड़ेगा उन्होंने छोटी सी उम्र मे इतने दर्द सहे पर हार नहीं मानी। और वह यह मुश्किलें सिर्फ इसलिए सह रहे थे, ताकि उनके संघर्ष की कहानी कभी उनके घर तक ना पहुंचे, जिससे उनका क्रिकेट करियर ना खत्म हो जाए, क्योंकि किसी के माँ बाप अपने लड़के को इतने दर्द और मुश्किलों मे नहीं देख सकते। 




यशस्वी जायसवाल संछिप्त जीवन परिचय | yashasvi jaiswal biography in hindi  


 

यशस्वी जायसवाल का जन्मतिथि - 28 दिसंबर 2001

यशस्वी जायसवाल की उम्र - 20 साल 

यशस्वी जायसवाल का जन्म स्थान - भदोई, उत्तर प्रदेश

यशस्वी जायसवाल का पेशा - क्रिकेटर 

यशस्वी जायसवाल के पिता का नाम - भूपेंद्र जायसवाल

यशस्वी जायसवाल की माँ का नाम - कंचन जायसवाल

यशस्वी जायसवाल के भाई का नाम - तेजस्वी जायसवाल

यशस्वी जायसवाल का धर्म - हिन्दू

यशस्वी जायसवाल की नागरिकता - भारतीय

यशस्वी जायसवाल की हाईट - 5 फिट 6 इंच 

यशस्वी जायसवाल का वेट - 64 किलो ग्राम 

यशस्वी जायसवाल के बालों का रंग - काला 

यशस्वी जायसवाल की आँखों का रंग - काला 

यशस्वी जायसवाल की स्कूल - ज्ञात नहीं 

यशस्वी जायसवाल के कोच - ज्वाला सिंह 

यशस्वी जायसवाल की बैटिंग स्टाइल - लेफ्ट हैंड बैट्समैन

यशस्वी जायसवाल की बॉलिंग स्टाइल - लेग-ब्रेक 

भारतीय अंडर –19 डेब्यू - 2018, भारत बनाम श्रीलंका

यशस्वी जायसवाल का आईपीएल डेब्यू - 2020

यशस्वी जायसवाल की आईपीएल सैलरी - 2 करोड़ 20 लाख

यशस्वी जायसवाल नेट वर्थ - 3 करोड़ 75 लाख 
 
यशस्वी जायसवाल की राशि - मकर

यशस्वी जायसवाल के पसंदीदा क्रिकेटर - सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली


((यहाँ पर हमनें आपको यशस्वी जायसवाल  के जीवन के बारे में और उनके प्रयासों के बारे मे बताया है, यदि आपको उनके बारे मे और कोई जानकारी चाहिए या आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है))

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

rahul sharma(micromax) biography in hindi | राहुल शर्मा जीवन परिचय| micromax story in hindi

Kamala Harris biography in hindi | कमला हैरिस की जीवनी | कमला हैरिस का जीवन परिचय

Dilip Shanghvi biography in hindi | दिलीप संघवी की जीवनी | Dilip Shanghvi success story in hindi

jr ntr biography in hindi | जूनियर एनटीआर जीवनी

harshad mehta biography in hindi | हर्षद मेहता का जीवन परिचय | harshad mehta scam 1992